Friday, December 2, 2022
Google search engine
HomeTravelfrontDelhi To Jind Haryana : रोड Journey From Delhi To Jind Haryana...

Delhi To Jind Haryana : रोड Journey From Delhi To Jind Haryana by car 140 KM | ट्रेवल Experience

दिल्ली की सड़के – दिल्ली सरकार ने कुछ दिन पहले ही सड़कों को यूरोपीय शहरों की तरह खूबसूरत बनाने की बात कही थी. अब ये तो पता नहीं ऎसा कब होगा. लेकिन दिल्ली के कुछ इलाको की सड़के बहुत अच्छी है.

यूरोपीय शहरों की तर्ज पर दिल्ली की सड़कों को विकसित किया जाएगा

दिल्ली सरकार का कहना है कि यूरोपीय शहरों की तर्ज पर दिल्ली की सड़कों को विकसित किया जाएगा. अब इस वादे में कितनी सच्चाई है यह तो वक्त ही बताएगा. फिरभी दिल्ली के कुछ हिस्सों में अच्छी सड़के है.

अभी हम दिल्ली के द्वारका में है और यहाँ की सड़के बढ़िया हैं. वैसे तो दिल्ली टोक्यो के बाद ट्रैफिक जाम के लिए बदनाम हैं लेकिन द्वारका सेक्टर एरिया जैसी जगह में ट्रैफिक जाम ना के बराबर होता हैं । वैसे दिल्ली की सड़के बहुत चौड़ी हैं, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर की नहीं हैं. जो की एक राजधानी के हिसाब से होनी चाहिए. दिल्ली सरकार का कहना हैं कि 500 किलोमीटर से अधिक लंबी सड़कों को हम यूरोपियन स्टैंडर्ड के हिसाब से डिजाइन कर रहे हैं अब यह नहीं कह सकते कि यह दवा कबतक सच होगा या नहीं.

खैर दिल्ली देहात कि सड़को कि खस्ता हालत सरकार के मुँह पर किचड़ उछालती रहती हैं. अब आप आप दिल्ली से नजबगढ़ होते हुए बहादुरगढ़ जाने वाली इस व्यस्त सड़क को ही देखिये बुरा हाल हैं. फिर भी सरकारों के दावे मीडिया और बैनर में जनता को लुभाते रहते हैं.

नजबगढ़ प्रशाशन का धन्यवाद

नजबगढ़ प्रशाशन ने यह अच्छा काम किया हैं कि ट्रफिम जाम से बचने के लिए अनेको सड़को को one way बना दिया हैं. किसी भी तंग जगह पर ऎसा करना बुद्धिमानी हैं. इसके लिए हम नजबगढ़ प्रशासन को बधाई देते हैं और धन्यवाद करते हैं. प्रत्येक भीड़ भाड़ वाली जगह पर यह कांसेप्ट फिट हो सकता हैं.

दिल्ली से बहार निकलने में ही लोगो को करीब एक घंटा लग जाता हैं. अगर आप सेंट्रल दिल्ली से आ रहे हैं तो आपको करीब 2 घंटे दिल्ली कि सड़को पर बिताने होते हैं.

बहादुरगढ़ शहर आपके सामने हैं

यहाँ पर दिल्ली कि सीमा समाप्त होती हैं और दिल्ली से सटा बहादुरगढ़ शहर आपके सामने हैं. लेकिन हमे तो जींद जाना हैं इसलिए बाईपास का विकल्प बहतर हैं .

यह वही हाईवे हैं जिसपर पिछले साल किसानो का विशाल आंदोलन चल रहा था , एक साइड से यह हाईवे किसानो के कब्जे में तो , तीन कानुको कि वापसी के बाद ही किसानो ने घर वापसी कि थी. अब फिरसे इस हाईवे पर दोनों और वहां दौड़ रहे हैं.

दिल्ली से निकलते ही बहादुर गढ़ का मशहूर पकोड़ा चौंक आ जाता हैं आप यहाँ चाय पकोड़े का आनंद ले सकते हैं.

गढ़ी सांपला एक ऐतिहासिक स्थल

दिल्ली से रोहतक जाने के रस्ते पर गढ़ी सांपला एक ऐतिहासिक स्थल हैं जहा किसान मसीहा चौधरी छोटूराम जी का स्टैच्यू स्वाभिमान के साथ एक विशाल प्रेरणा के रूप में स्थापित है.

ढाबे भी आधुनिक स्वरुप में ढल रहे

जैसे जैसे वक़्त बदल रहा है हाइवेज के किनारे बने ढाबे भी आधुनिक स्वरुप में ढल रहे है. महंगाई कितनी भी हो लेकिन हाईवे पर चलने वाले लोग दिखावे और भोजन की गुणवत्ता को महत्व देते है. आम ढाबे अब यहाँ चल नहीं पा रहे है क्योकि अब यहाँ 5 स्टार रेस्टोरेन्ट्स लोगो को अपनी और आकर्षित कर चुके हैं.

हवेली नुमा बड़े बड़े रेस्टोरेंट पर्यटकों को लुभा भी रहे हैं और साथ ही उत्तम सुविधाए भी प्रदान कर रहे हैं.

रोहतक जींद रोड की हालत खस्ता हैं.

अब रोहतक से जींद पहुंचने के दो रस्ते हैं जिसमे से रोहतक जींद रोड की हालत खस्ता हैं, पिछले ६ साल से यह रोड बनने में लगा हैं लेकिन पूरा नहीं हो रहा हैं, कुछ हिस्से जो शुरुआत में बने थे अब वो मरम्मत मांग रहे हैं. खैर देखते हैं कबतक ये सड़क तैयार होती हैं.

इसके लिए हमारे पास बेहतर विकल्प हैं दिल्ली TO हिसार हाईवे . थोड़ा सा लम्बा हैं लेकिन ये अच्छा रास्ता हैं.

इंडियन आर्मी की गाड़ियों के काफिले अकसर इस हाईवे से गुजरते देखे जाते हैं. जब भी जवानो के काफिलों को ऐसे देखते हैं हमे गर्व होता होता और भीतर से एक सम्मान का अनुभव होता हैं.

रोहतक पार करने के बाद यह चौक आता हैं यहाँ से भी जींद रोहतक रोड पर जा सकते हैं. लेकिन रास्ता खराब हैं इसलिए सीधे चलना ही ठीक रहेगा. जब भी आपके पास दो विकल्प हो तो हमेशा बहतर को चुने.

मुंढाल जो जींद भिवानी रोड पर स्थित हैं

हिसार रोड पर एक स्थान मुंढाल जो जींद भिवानी रोड पर स्थित हैं , बस अब हमे यहाँ से जींद की तरफ राइट टर्न लेना हैं. हरे भरे खेतो के बीचो बिच यह रास्ता अब सीधे जींद जायेगा बिना किसी रुकावट के.

अब हम जींद जिले में पहुंच चुके हैं , क्योकि हमे जींद शहर नहीं जाना इसलिए हम अपने गॉँव की तरफ चलते हैं.

तो दोस्तों यह था इस यात्रा का डिजिटल अनुभव, आप भी इस मार्ग का प्रयोग कर बड़ी आसानी से अपनी डेस्टिनेशन तक पहुंच सकते हैं. आप कमेंट में जरूर बताए अगर यह अनुभव आपको अच्छा लगा हो. धन्यवाद

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments